बवासीर का इलाज, पाइल्स का ऑपरेशन | अगर कराने वाले हैं बवासीर की सर्जरी तो ध्यान रखें



 Add to 

  Share 

163 views



  Report

admin
2 months ago

Description

बवासीर या बावसीर गुदा खोलने के आसपास रक्त वाहिकाओं की सूजन है। बवासीर के कारण कब्ज, आनुवंशिकता, या मल त्याग के दौरान तनाव से भिन्न हो सकते हैं। जैसे-जैसे स्थिति बढ़ती है, वे बड़े हो जाते हैं और गुदा द्वार से द्रव्यमान निकलने लगता है। बवासीर के इलाज के लिए विभिन्न उपचार उपलब्ध हैं और बवासीर के लिए स्टेपलर सर्जरी एक उपचार है। हालांकि बवासीर बहुत आम है, वे बड़े हो जाते हैं, वे पुरुषों और महिलाओं में समान रूप से समस्याएं पैदा कर सकते हैं, और उनकी व्यापकता 45 से 65 वर्ष की आयु के बीच होती है। बवासीर के इलाज के लिए आपको स्टेपलर सर्जरी की आवश्यकता क्यों है? स्टेपलर सर्जरी या स्टेपलर हेमोराहाइडेक्टोमी या प्रक्रिया या प्रोलैप्स हेमोराहाइडेक्टोमी बवासीर के इलाज के लिए एक शल्य चिकित्सा पद्धति है। प्रोलैप्सड पाइल्स गुदा से निकलने वाले उभार को कहते हैं। बवासीर के लिए स्टेपलर सर्जरी का उपयोग ग्रेड 2 बवासीर के इलाज के लिए किया जा सकता है लेकिन आमतौर पर इसका उपयोग उच्च ग्रेड के बवासीर - ग्रेड 3 और ग्रेड 4 के इलाज के लिए किया जाता है। इस सर्जरी के साथ असामान्य रूप से बड़े बवासीर के ऊतकों को हटा दिया जाता है।बवासीर व्यक्ति के दिनचर्या को नरक बना देता है। खान-पान में असंयम होने के कारण आज की युवा पीढ़ी भी इस गंभीर समस्या से तेजी से पीड़ित हो रही है। हालांकि यदि बवासीर की उपस्थिति के सुराग मिलने पर ही जीभा पर लगाम लगाकर, उचित दवाइयों का सेवन शुरू कर दिया जाए तो सर्जरी से बचना आसान है। परन्तु बहुत से लोग शुरुआत में बवासीर को मामूली समझते हैं जो आगे चलकर उनके जीवन के प्रत्येक पल को दर्द और असहजता से भर देता है। अंततः उपचार हेतु रोगी को सर्जरी की जरूरत होती है। आमतौर पर बवासीर का ग्रेड अधिक होने पर डॉक्टर सर्जरी के लिए कहते हैं जो जरूरी भी है, किन्तु आपको सर्जरी कराने से पहले निम्न 5 बातों को ध्यान में रखना बहुत जरूरी है। आइये जानते हैं वो बातें क्या हैं और उन्हें ख्‍याल में रखने की जरूरत क्यों है? 1. सर्जरी की प्रक्रिया का चयन सर्जरी का निर्णय लेने से पहले डॉक्टर से यह जान लेना बहुत आवश्यक है कि बवासीर को ख़त्म करने के लिए वे किस सर्जरी का उपयोग करेंगे। बवासीर का ऑपरेशन करने की कई प्रक्रियाएं हैं, जैसे- लेजर सर्जरी, ओपन सर्जरी, स्टेपलर सर्जरी, क्षार सूत्र आदि। इन सभी में से आपको लेजर प्रक्रिया का चयन करना चाहिए। यदि डॉक्टर लेजर प्रक्रिया की जगह ओपन सर्जरी या अन्य सर्जिकल प्रक्रियाओं में से किसी एक के उपयोग की सलाह दे रहा है तो उससे प्रश्न करें कि आखिर लेजर प्रक्रिया का उपयोग क्यों नहीं हो सकता है। हो सकता है कि बवासीर के उच्चतम ग्रेड में लेजर सर्जरी की जगह ओपन सर्जरी की जरूरत पड़े। इसलिए इस बारे में डॉक्टर से अच्छी तरह बात करें और कोशिश करें कि बवासीर का उपचार के लिए मौजूद विकल्पों में लेजर सर्जरी का चयन करें।